रूठे को मनाएं वशीकरण मन्त्र से

मैंने अपने ज्योतिष के करियर में लोगों से और उनकी समस्याओं से बहुत कुछ सीखा है | यही कारण है कि जो कुछ भी नया मैं सीखता हूँ उसे ज्यों का त्यों आपके सामने रख देता हूँ और यही मेरा आभार व्यक्त करने का माध्यम है |

अच्छा बुरा समय आता जाता रहता है परन्तु कुछ लोगों का बुरा समय पीछा नहीं छोड़ता | मेरा यह लेख उन लोगों के लिए है जो अपने स्वजनों की उपेक्षा सहन करने के लिए मजबूर हैं | यदि कोई आपसे रूठा है तो कल मान भी जाएगा परन्तु जब कोई ऐसा हो जिसे मनाने के लिए ईश्वर आपको कोई मौका ही न दे रहा हो तो आप भी ईश्वर को मजबूर कर सकते हैं कि आपके लिए अनुकूल परिस्थितियां पैदा हों | मनुष्य ईश्वर के अधीन है और ईश्वर मन्त्र के अधीन हैं | सभी मन्त्रों में ईश्वर का नाम किसी न किसी तरह से आता है | इसलिए मन्त्र एक माध्यम हैं प्रकृति को मजबूर करने का और आपकी इच्छा के अनुरूप कार्य करने का |

जब हम मन्त्र पढ़ते हैं तो एक आभामंडल पनपता है | यह आभामंडल धीरे धीरे आपके अभ्यास के कारण बढ़ता रहता है | निरंतर और नियमित मन्त्र प्रयोग से यह आभामंडल अधिक सघन होता चला जाता है | दिखाई न देने वाला यह आभामंडल आपकी ओर आ रही नकारात्मक ऊर्जा को सकारात्मक ऊर्जा में बदल देता है | तो इस तरह हर मन्त्र काम करता है |

हमारे शरीर में एक आकर्षण शक्ति होती है जो दूसरों को हमारी ओर आकर्षित करती है | यह शक्ति या ऊर्जा घटती या बढती रहती है | इस वशीकरण मन्त्र से आकर्षण में वृद्धि होने के साथ साथ चेहरे पर तेज आता है | व्यक्तित्व में निखार आता है | यह मन्त्र आपसे रूठे व्यक्तियों को आपके करीब ला देगा और ऐसी परिस्थितियां पैदा होंगी कि लोगों को आपसे जरूरत होगी जिसके चलते आपको कोई नजरअंदाज नहीं कर सकेगा |

मन्त्र इस प्रकार है :

ज्ञानिनामपि चेतांसी देवी भगवती ही सा
बलादाकृष्य मोहाय महामाया प्रयच्छति

 

2 comments

  1. Sir ,mere carrier n marriage me bare me much bteye.thanku

  2. My d.I.b.-1-3-1992,time-7:45pm,place-bareilly’. Me pane job carrier & marriage ke bare me poochna chakra upon.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Featured Video

Categories

WpCoderX