मेष राशि के लोग काफी आक्रामक होते हैं इनमें जोश जुनून बहुत अधिक होता है परंतु उनका जोश कुछ समय बाद ठंडा हो जाता है उसी तरह इनका गुस्सा होता है भड़कते हैं परंतु जल्दी ही शांत भी हो जाते हैं।

रिश्तो में आपसी समझ और समर्पण की भावना महत्वपूर्ण होती है मेष राशि के लोगों में आपसी समझ तो अवश्य होती है परंतु समर्पण और त्याग उनके मूड पर निर्धारित होता है इसलिए यदा-कदा लड़ाई झगड़े होते रहते हैं परंतु यदि सामने वाला भी मेष राशि का को यानि पति और पत्नी दोनों की मेष राशि हो तो चुप दोनों में से कोई नहीं सकता।

नीचा देखना इन्हे आता नहीं है यह तो बस अपनी जिद पर अड़े रहते हैं इसलिए मेष राशि के लोगों की मेष राशि के लोगों के साथ उसी अवस्था में नहीं सकती है जब दोनों में से एक के अंदर चंद्रमा और गुरु इनमें से किसी का तत्व हो अर्थात चंद्र राशि दोनों की मेष हो और सूर्य राशि या लग्न दोनों में से किसी एक का धनु, मीन, कर्क इनमे से कोई होना चाहिए।

अन्यथा मेष राशि के व्यक्ति की मेष राशि के साथ कुंडली मिलान शुभ नहीं है दोनों में लड़ाई झगड़े अधिक होंगे और होते ही रहेंगे।

उपाय

यदि संयोग से आपकी और आपके जीवनसाथी की राशि मेष है तो फिर सोमवार का व्रत रखें। मोती रत्न धारण करें।

Get 2 Minute Prediction

 

Verification