Vrishchik Rashi 2019

वृश्‍चिक राशि वर्ष 2019 राशिफल

वृश्चिक राशि के लिए आगामी वर्ष 2019 बहुत खास है। शनि की स्थिति आपकी कुंडली के दूसरे स्थान में होने से यह स्‍पष्‍ट है कि साढ़ेसाती अंतिम चरण में है। बृहस्पति लग्न भाव में बैठकर पांचवी और नौवें घर को अपनी दृष्‍टि से समृद्धि प्रदान कर रहा है। राहु-केतु आपकी कुंडली के क्रमश: नौवें और तीसरे स्थान में हैं। अप्रैल में ये राशि परिवर्तन करेंगे और कुंडली के आठवें और दूसरे स्थान में चले जाएंगे। ध्‍यानपूर्वक देखने पर चार बड़े ग्रहों की स्थिति आपकी राशि के लिए अनुकूल नहीं लग रही है लेकिन बृहस्पति की दृष्टि से आपको जरूर कुछ ना कुछ अच्‍छा मिलेगा। कुल मिलाकर साल 2019 संघर्षों और कठिनाइयों वाला है, जिन पर विजय प्राप्त करने के लिए बृहस्पति की दृष्टि आपके लिए सहायक होगी।

इस समय में आपको मकान दुकान या फैक्ट्री की मरम्मत का काम शुरू नहीं करना है।

परिवार के विषय में बात की जाए तो वृश्चिक राशि वालों के लिए यह वर्ष बेहद नाजुक है। परिवार में किसी के स्वास्थ्य के बिगड़ने के संकेत हैं। यदि घर में कोई बुजुर्ग है तो उनका विशेष ध्‍यान रखें, यह समय घर के बुजुर्गों के लिए बेहद नाजुक है।

वृश्‍चिक राशि साल 2019 विद्यार्थियों के लिए

विद्यार्थियों के लिए साल 2019 विशेष लाभदायक है। इस वर्ष आप भाग्यशाली रहेंगे लेकिन फिर भी मेहनत करने की सलाह दी जाती है। इसके पीछे कारण यह है कि लग्न में स्‍थित बृहस्पति मेहनत के अनुसार ही फल देता है। अगर ऐसा लगता है कि थोड़े से प्रयास से अधिक सफलता मिल रही है तो अधिक प्रयास करने से तो अप्रत्याशित सफलता प्राप्त कर सकते हैं। कुंडली के पांचवे घर से पढाई का विचार किया जाता है और साल 2019 में बृहस्पति की दृष्टि पांचवें घर पर रहने से आपका पढ़ाई में मन भी लगेगा और आप पढ़ाई में कुछ अच्छा कर भी पाएंगे।

वृश्‍चिक राशि वर्षफल 2019 और दांपत्‍य, प्रेमसंबंध और रोमांस  

जो लोग रिलेशनशिप में है, प्रेमसंबंध में है उनके लिए अच्छी खबर है। साल 2019 में आपके रिलेशन और मजबूत होंगे, संबंधों में आई मजबूती आपको मनोबल प्रदान करेगी। जीवनसाथी की ओर से आप निश्चिंत रहेंगे। यदि प्रेमविवाह के बारे में सोच रहे हैं तो प्रेम विवाह साल 2019 में किसी भी समय कर सकते हैं केवल अप्रैल के महीने को छोडकर। उस समय बृहस्पति धनु राशि में होंगे और कुंडली के पांचवे स्‍थान यानि प्रेमसंबंधो का प्रतिनिधित्‍व करने वाले भाव पर बृहस्पति की दृष्टि नहीं होगी। परंतु अप्रैल के पश्चात नवंबर तक का समय आपके लिए अनुकूल है। दांपत्य जीवन में भी साल 2019 का वर्ष आपके रिश्तो को बिगड़ने नहीं देगा। इस वर्ष आपको अपने जीवनसाथी से पूर्ण सहयोग प्राप्त होगा।

जो लोग दूसरी शादी की सोच रहे हैं उन्हें अभी और इंतजार करने की आवश्यकता है। साल 2019 में आपको सही जीवनसाथी मिलना मुश्किल है।

वृश्‍चिक राशि वर्षफल 2019 और नौकरी

जो लोग नौकरी में हैं उनके लिए साल 2019 सूर्य की गति पर निर्भर करेगा। कई प्रकार के उतार-चढ़ाव आपको देखने को मिलेंगे। वर्ष के आरंभ में धनु राशि में स्‍थित सूर्य शनि को प्रभावित कर रहा है जो धन स्थान में स्‍थित है। फलस्‍वरूप आपको आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है परंतु जनवरी के मध्य में सूर्य अनुकूल हो जाने से आपके बिगड़े कार्य बनेंगे। केवल फरवरी के मध्य में परेशानियां आएंगी जो मार्च के मध्य तक रहेंगी। इसके पश्‍चात आगे का समय अनुकूल है, किसी प्रकार की परेशानी नहीं है। फिर भी जब मंगल ग्रह वृषभ राशि और कर्क राशि में विचरण करेगा तब आपको आर्थिक चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। नौकरी में हालात बदतर हो जाएंगे, इसलिए ध्यान रखें।

वृश्‍चिक राशि वर्षफल 2019 और बिजनेसमैन

बिजनेस में इस वर्ष हानि और परेशानी का भय रहेगा किसी भी प्रकार का रिस्क ना ले। मंगल जब वृषभ राशि, कर्क राशि और तुला राशि में विचरण करेगा तब विशेष हानि का भय है। इस वर्ष में आपको काफी संभलकर चलना होगा। आपके अपने बिजनेस पार्टनर से मतभेद हो सकते हैं।

वृश्‍चिक राशि वर्षफल 2019 और स्‍वास्‍थय

स्वास्थ्य के लिहाज से यह वर्ष चुनौतियों से भरा है। इस वर्ष आपके वजन के बढ़ने के संकेत हैं इसलिए खान-पान का ध्यान रखें। आप भरसक प्रयत्न करने के बावजूद अपने वजन को बढ़ने से रोक नहीं पाएंगे, इसलिए सचेत रहें। अप्रैल महीने से लेकर वर्ष के अंत तक राहु-केतु की स्थिति के कारण घर में आपका मन नहीं लगेगा। घर परिवार में अचानक विपत्ति या परेशानी के योग है। आपके साथ कुछ ऐसी घटनाएं इस वर्ष घटित होने के संकेत हैं जिनका विज्ञान के पास कोई उत्तर नहीं है।

उपाय

उपाय के तौर पर कुछ सावधानियॉं रखें, जैसेकि घर का बेकार पड़ा सामान, कबाड़, रद्दी इत्यादि बेचिए मत बल्कि इसे इकट्ठा करें और किसी जरूरतमंद को दे दें। सफाई कर्मचारी या इस प्रकार का काम करने वाले को बुरा-भला ना कहें बल्कि उन्हें खुश रखें। इस वर्ष कोयले का दान करें। महीने के प्रथम शनिवार को अपने वजन के तीसरे हिस्से के बराबर कोयला या ईंधन की लकड़ी या यदि यह संभव न हो तो गैस सिलेंडर ही किसी जरूरतमंद को दान करें। सिलेंडर से अभिप्राय: है कि सिलेंडर में गैस भरवा कर दे दें तो काफी है।

किसी गरीब व्‍यक्‍ति की दवाइयों का खर्च उठाएं और अस्पताल में भर्ती मरीजों की सेवा करने से आपको जो दुआएं मिलेंगी उनसे भी आप का कल्याण हो सकता है।

शनि का रत्न नीलम भी धारण कर सकते हैं परन्‍तु किसी ज्‍योतिषी की सलाह अवश्‍य ले लें कि यह आपके लिए उपयुक्त रत्न है या नहीं।

संक्रांति के प्रथम गुरुवार को पीपल का एक पौधा किसी वीरान जगह पर लगाएं और कुछ समय उसकी देखभाल करें।

WpCoderX